Sardar Bhagat Singh Vs Gandhi - Amar Khalsa ft R Sodhi | Latest Punjabi Songs 2018

Jass Geet Records  /  Music

Length: 5:28   Quick View

3,336,628

"Jass Geet Records" Presents "Sardar Bhagat Singh V/S Gandhi".
Don't forget to Like, share & comment.

ਅਮਰ ਖਾਲਸਾ ਦਾ ਅਗਲਾ ਗੀਤ ਸੁਣਨੇ ਲਈ ਸਾਡਾ ਚੈਨਲ ਜਰੂਰ SUBSCRIBE ਕਰੋ JI
________________________________________________________________

► Enjoy and stay connected with JASS GEET RECORDS :-

* Youtube Channel :- http://bit.ly/JassGeetRecords
* Facebook :- https://www.fb.com/Jassgeet.Records/
* E Mail - [email protected]
* For Inquiries :- (+91 7696139308)
_________________________________________________________________

► Song Credits :-

* Song - Bhagat Singh Vs Gandhi
* Singer - Amar Khalsa

* Enjoy and stay connected with SINGER - Amar Khalsa

Facebook - https://www.fb.com/Singer.Amar.Kahlsa/)
Contact - (+91 9876334688)

* Music - R Sodhi (+9198149-22423)
( https://www.fb.com/rashpalsingh.rashpalsingh )

* Mix & Master Kamal Sahib
* Lyrics - Sukhwinder Durali
* Aerial Photography - Firaz (Maldieves)

* Video - N.Ghai (+91 8360113704)
* Presntation - Man Dhillon
* Last Sher By Jaspal Moga
* Spl Thanks - Jaspal Moga

* Label - Jass Geet Records
________________________________________________________________

► Also Original Song Available On Stores :-

* i tune - https://goo.gl/thPNyU
* Music Out - https://goo.gl/AKKYXt
* Amazone - https://goo.gl/jW1VoK
* Gaana - https://goo.gl/PHPKd9
* Raaga - https://goo.gl/h3CMgX
* Hungama - https://goo.gl/G57ykk
* Wynk - https://goo.gl/BvD6yC
* Google Play - https://goo.gl/X8wvHT
* Qobuz - https://goo.gl/GXRjNg
* Anghami - https://goo.gl/bNMoqQ
* Saavn - https://goo.gl/5zN2P5


► Caller Tunes Code's :-

* Airtel (Dial) - 5432116534855
* Idea (Dial) - 5678910475936
* Voda (Dial) - 53710475936
* BSNL (SMS) BT 10475936 to 56700 (South/East)
* BSNL (SMS) BT 10475936 to 56700 (North/West)

________________________________________________________________

► Online, Digital Partner & Music Consultant :-

AME Digital (Artist Media Entertainment)

* Instagram - https://www.instagram.com/ame.digital/
* facebook - https://www.fb.com/amedigital.in/
* E Mail - [email protected]
* Website - amediigital.in
* Contact - +91 9779484898
_________________________________________________________________

► All Copyright Reserved with @Jass Geet Records
________________________________________________________________

► Lyrics in Hindi :-

जब ज़ुल्मों की मार हद से गुज़र जाती है असल लोग वही होते हैं जो हथिआर उठा लेते हैं फांसी पे हमेशा दलेर मर्द ही चढ़ते हैं चरखे तो औरतें भी चला लेतियाँ हैं मैं निराशावादी भगत सिंह बोल रहा हूँ गाँधी तू मेरी बातों का जवाब दे मैंने सिर्फ अपने हक़ की ही बात करनी है और तेरे से मेरी कोई जमीन सांझी नहीं है मैं भी तो आज़ादी के लिए लड़ा था फिर मेरे साथ इतना बुरा क्यों हुआ तुम्हरे परिवार ने तो देश पे राज किया है और मेरा परिवार दिहाड़ी करता है बताओ मेरे साथ इतना बुरा क्यों हुआ तुमने तो अपना बुढ़ापा भी देखा मैंने अच्छी तरह से जवानी को नहीं जिया तुम निजी करने से नथु गोडसे के हाथों मरे गए और मैंने देश के लिए क़ुरबानी दी है तुम्हरी अंग्रेजो के साथ सीधी बात थी और मैं झाडिओं के पीछे छिपता रहा तुम्हरे परिवार ने तो देश पे राज किया है और मेरा परिवार दिहाड़ी करता है बताओ मेरे साथ इतना बुरा क्यों हुआ तुम तो 1947 के बाद भी जिन्दा रहे मैंने तो आज़ादी देखी भी नहीं कैसी थी तुमको महान आत्मा का दर्जा मिल गया और मुझे लोग बोलते हैं कि मैं आतंकवादी था नोट और दिल्ली का एयरपोर्ट भी तुम्हरे हिस्से आ गया और मेरे हिस्से गाडिओं के शीशे व् खिड़कीआं ही आई हैं तुम्हरे परिवार ने तो देश पे राज किया है और मेरा परिवार दिहाड़ी करता है बताओ मेरे साथ इतना बुरा क्यों हुआ तुमने तो लंदन में बैठ कर बहुत समय गुज़ारा और हमारे ऊपर बदल मंडराते रहे तुम्हरे पैदा होने पे सभी को सरकारी छुट्टी होती है मेरे पैदा होने की तरीक बहुत लोगो को पता ही नहीं है इतिहास गवाह है कि तुम्हरी शादी भी हुई थी और हमने मौत को दुल्हन मान कर गले से लगाया था तुम्हरे परिवार ने तो देश पे राज किया है और मेरा परिवार दिहाड़ी करता है बताओ मेरे साथ इतना बुरा क्यों हुआ तुम्हरी मृत्यृ हुई तो तुम पैर फूलों की बरखा हुई और विशेष श्रद्धांजलि दी गयी और मेरे को फांसी पे चढ़ा कर फिर सुटकेश में डाल कर सतलुज के कंडे पर फेंक दिया गया "सुखविंदर दुराली" बहुत चुभती है जो बातें सीधी मुँह पे बोल दी जाती हैं तुम्हरे परिवार ने तो देश पे राज किया है और मेरा परिवार दिहाड़ी करता है बताओ मेरे साथ इतना बुरा क्यों हुआ